भारत ने एक दिन में रिकार्ड 1 करोड़ वैक्सीन लगाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया।

भारत ने एक दिन में रिकॉर्ड 1करोड़ वैक्सीन लगायी। यह एक विश्व रिकॉर्ड हैं तथा जो न्यूजीलैंड की कुल जनसंख्या के बराबर है। जबकि बहुत से देश अपनी 6 से 7 करोड़ जनसंख्या को भी वैक्सीनेट करने में बहुत परेशानियों का सामना कर रहें हैं। 

जैसा कि अमेरिका में पढ़े लिखे लोग वैक्सीन नहीं लगवाना चाहतें हैं। जबकि भारत में पढ़े लिखे और अनपढ़ लोग भी वैक्सीन लगवाने में पीछे नहीं हैं। भारतीय टीकाकरण अभियान बड़ी नियोजित तरीके से चल रहा है।

     

भारत ने अपना टीकाकरण अभियान 16 जनवरी 2021 को शुरू किया था। इस दौरान भारत ने 21 जून को एक दिन में पहली बार 85 लाख वैक्सीन लोगों को लगायी थीं। जो भी एक विश्व रिकॉर्ड बना था। क्यों कि किसी भी देश ने इतने बड़े पैमाने पर वैक्सीन अपने नागरिकों को नहीं लगाई थी।

आरोग्य सेतु एप और कोविन प्लेटफॉर्म

भारत यह सब कुछ बड़े नियोजित ढंग से कर रहा है। जिसमें भारत तकनीक का सहारा ले रहा है। जिसमें भारत ने अपना टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए आरोग्य सेतु एप का सहारा लिया तथा एक वेबसाइट cowin.in की भी मदद ली। 

इन दोनों माध्यमों की मदद से भारतीय नागरिक अपने टीकाकरण की तारीक व टिकाकेंद्र अपनी सहूलियत के हिसाब से चुन सकते हैं। इसके साथ ही इन दोनों माध्यमों से सभी टीका लगवाने वाले नागरिकों को ऑनलाइन बना हुआ प्रमाण पत्र जारी होता है। जो बहुत ही शानदार है। क्योंकि अमेरिका और दूसरे देश ऐसा नहीं कर पाएं हैं। इसके साथ ही अगली डोज की तारीख भी इन दोनों माध्यमों पर आ जाति है।

 

हा इन दोनों माध्यमों को चलाने के लिए आपके मोबाइल में इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए और साथ ही मोबाइल भी स्मार्ट फोन हो। क्यों कि इसमें भी सिम के माध्यम से अकाउंट खोलना पड़ता है। जिसकी सहायता से आप अपने एक मोबाइल नंबर पर अपने परिवार के 4 लोगों के लिए वैक्सीन बुक कर सकते हो। 

भारत में आज की तारीख तक 54,82,71,758 करोड़ लोगों ने टीका के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। जिसमें 18 से 44 की उम्र के लोगों की संख्या 30,84,09,311 करोड़ है तथा 45 से उम्र के लोगों की संख्या 23,98,62,447 करोड़ है। इस बात से यह निष्कर्ष निकलता है कि भारत में केवल युवा वर्ग ही वैक्सीन नहीं लगवा रहा है बल्कि 45 से ज्यादा उम्र के लोग भी टीका लगवा रहें हैं। क्यों कि भारत में टीकाकरण केवल 45 से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए खोला गया था।
    

भारत में कुल टिका केंद्रो की संख्या
    

जैसा कि हम सब जानते हैं कि भारत की जनसंख्या 135 करोड़ है। जिसके टीकाकरण के लिए कुछ हजार केंद्रो से कुछ नहीं होने वाला है। इसलिए भारत में कुल टिका केंद्रो की संख्या 63,342  है। भारत में 59,763 सरकारी टीकाकरण केंद्र हैं। जहां आम जनता को निशुल्क वैक्सीन लगाई जाती हैं तथा 3,579 प्राइवेट टिकाकेंद्र हैं। जहां लोगों को रुपए देने पड़ते हैं। भारत ज्यादातर जनता सरकारी टीकाकरण केंद्रो से ही टीका लगवाती है क्यों कि यह उसको निशुल्क लगता है।

     

कुल वैक्सीन लगाई गई।

भारत ने अपने देश में 62,17,06,882 करोड़ से ज्यादा टीका की डोज लगाई हैं। जो विश्व में अभी एक विश्व रिकॉर्ड है। जिसमें पहला डोज लेने वाले लोगों की संख्या 48,08,78,410 करोड़ है तथा दूसरा डोज लेने वाले लोगों की संख्या 14,08,28,472 करोड़ है। भारत में उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा लोगों को  टिका लगवाने वाला राज्य है। जिसने करीब 6,96,95,821 करोड़ लोगों को टिका लगवाया है। इसके बाद 5,63,24,037 करोड टीकाकरण के साथ महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर है।

दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया दुनिया का सबसे बड़ा टीका उत्पादन करने वाला संस्थान है। जो अभी अगस्त महीने में करीब 10  करोड़ वैक्सीन टीका का उत्पादन करता है। इससे ही आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया दुनिया के टीका प्रोग्राम में मदद ना करें। तो यह बिल्कुल ही सफल नहीं होगा।

 

इसके साथ ही भारत की अपनी वैक्सीन कोवाक्सिन भी हैं जिसको भारत बायोटेक ने बनाया है। भारत बायोटेक कोवाक्सिन की लगभग 2 करोड़ 50 लाख वैक्सीन उत्पादित कर रहा है। भारत में लगभग 12 करोड़ टीकों का हर महीने उत्पादन होता है।
इन सभी कारणों से भारत का टीकाकरण अभियान बहुत ही शानदार तरीके से आगे बढ़ रहा है क्योंकि भारत की जनसंख्या 135 करोड़ है तथा जिसका 2 या 4 महीनों में टीकाकरण करना बहुत ही मुश्किल है।
    

Post a Comment

Previous Post Next Post