भारत सरकार सेना के लिए 14000 करोड़ के मिसाइल और हेलीकॉप्टर खरीदेगी।

भारत सरकार सेना को  मजबूत व ताकतवर बनाने के लिए 14000 करोड़ रुपए के मिसाइल और हेलीकॉप्टर खरीदेगी। 


भारत सरकार यह सौदा अपने पड़ोसी देशों चीन और पाकिस्तान की साजिशों को देखते हुए खरीदेगी।  भारतीय सेना भारत के दुश्मन देशों से लगती सीमा को सुरक्षित करने के लिए जमीनी व आकाशीय सीमाओं को और चाक चौबंद करने के लिए 14000 करोड़ रुपए के दो आकाश एस मिसाइल सिस्टम और 25 आत्यधुनिक हेलीकॉप्टर को खरीदेगी। जिसके लिए सेना ने रक्षा मंत्रालय को प्रस्ताव भेज दिया गया है और जहां रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में इस पर स्वीकृति प्रदान कर दी जायेगी।

काश मिसाइल सिस्टम

आकाश मिसाइल सिस्टम भारत का खुद का बनाया हुआ घरेल मिसाइल डिफेंस सिस्टम है। भारत की सेना नए उन्नत संस्करण का आकाश एस मिसाइल सिस्टम खरीद रहीं हैं। जो दुश्मन के सभी विमानों और सभी क्रूज मिसाइलों को 25 से 30 किलोमीटर दूर से ही  सटीक निशाना बना सकती हैं। यह पाकिस्तान और चीन दोनों की सीमा पर तैनात किया जायेगा। 

आकाश मिसाइल सिस्टम को बनाया

आकाश मिसाइल सिस्टम को भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बनाया है। यह मिसाइल सिस्टम भारत की सेना में पहले से ही मौजूद हैं। अगले कुछ वर्षों में इसके नये संस्करणों को शामिल किया जा सकता है। नए संस्करणों के आने से यह अधिक दूरी व अधिक ऊंचाई तक मार कर सकेगा। 

ध्रुव मार्क 3 हेलीकॉप्टर 

भारत सरकार सेना के लिए 25 उन्नत व अत्याधुनिक सुविधाओं से ध्रुव मार्क 3 हेलीकॉप्टर भी खरीद रहीं हैं। भारत में बना ध्रुव हेलीकॉप्टर शून्य से नीचे तापमान पर भी काम कर सकता है और 2 से ज्यादा समय तक लगातार उड़ान भी भर सकता है। यह किसी भी ऑपरेशन के लिए बहुत ही अच्छा हेलीकॉप्टर है।

यह 14000 करोड़ रूपए की रक्षा खरीद भारत का टेंडर स्वदेशी कंपनियों को दिया जायेगा। क्यों कि आकाश मिसाइल सिस्टम को भारत की डीआरडीओ ने बनाया है और ध्रुव मार्क 3 हेलीकॉप्टर हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने मनाया है। भारत सरकार अब स्वदेशी हथियारों को ज्यादा खरीदने पर जोर दे रही हैं। क्यों कि स्वादेशी हथियारों को देखभाल करना आसान होता है और उनके कलपुर्जे आसानी से मिल जाते हैं।

   

Post a Comment

Previous Post Next Post