तालीबान ने आम जनता के बीच चार लोगों को मारकर चौराहे पर उनकी लाश को क्रेन से लटका दिया।

तालीबान की क्रूरता दुनिया से छिपी नहीं है। अफगानिस्तान पर 15 अगस्त के कब्जे के बाद, तालीबानी शासन के क्रूर कार्य शुरू हो गये हैं। ऐसी ही क्रूरता तालीबान ने 25 सितम्बर को चार लोगों को मारकर उनकी लाशों को आम जनता के बीच चौराहें पर क्रेन से लटका दिया। 

— Zahra Rahimi (@ZahraSRahimi) September 25, 2021
x

यह घटना शनिवार की अफगानिस्तान के  हैरात शहर के मुख्य चौराहे की है। जहां इस घटना पर तालीबान का कहना है कि हमने इन लोगों के पास  किडनैप  किये गये बच्चों को पाया था। ये अपहरणकर्ता अपहरण किए गए बच्चों से भीख मांगने और गैर कानूनी काम करवाया किया करते थे तथा दूसरे लोगों का भी अपहरण कर उनसे धन उगाही किया करते थे।


तालीबान ने आगे बताया कि ये सब अपहरणकर्ता अफगानिस्तान के भिन्निन हिस्सों में इन घटनाओं को अंजाम दिया करते थे। इसलिए सबसे पहले हमारे लड़ाकों ने इन लोगों को गोली मार दी और बाद में इनको हैरात शहर के मुख्य चौराहे पर लटका दिया। इस मसले पर तालीबान का साफ कहना है कि उसने यह सब दूसरों को पाठ पढ़ाने के लिए किया है। हम अपहरण को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

तालीबान के क्रूरता भरे काम दुनिया के सामने फिर से एक बार आना शुरू हो गए हैं। इस तरह की आम जनता के बीच फांसी तालीबान अपने पहले शासन काल 1996 से 2002 में दिया करता था। अब यह फिर एक बार शुरु हो गया है। 

Post a Comment

Previous Post Next Post