पुनीत राजकुमार मात्र 42 वर्ष की आयु में दिल का दौरा पड़ने से गुजर गए, पुनीत राजकुमार के जीवन की दिलचस्प कहानी

पुनीत राजकुमार टॉलीवुड फिल्मी जगत की विख्यात हस्ती थे। जिनकी आज 42 वर्ष की छोटी उम्र में दिल का  दौरा पड़ने 24 अक्टूबर 2021 को बंगलुरू में मृत्यु हो गई। उनकी असामयिक मृत्यु ने पूरे भारत वर्ष में उनके चाहने वालों में बहुत पीड़ा है। पुनीत राजकुमार  का अपने फैंस के बीच दिल का लगाव था। लेकिन उनके आज इस तरह से चले जानें से वह लोग शून्य में चले गए हैं। 


पुनीत राजकुमार एक फैमस भारतीय हीरो, प्लेबैक सिंगर, टेलीविज़न प्रस्तोता  और शानदार निर्देशक थे। जिनके कैरियर की शुरुआत कन्नड़ सिनेमा से हुई थी। हालाकि उन्होंने मलयालम और तेलगु फिल्मों में भी काम किया है। लेकिन ज्यादातर काम उन्होंने कन्नड़ सिनेमा में ही किया है। उनके अभिनय के बारे में इस बात से ही अनुमान लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपने बचपन में ही कई फिल्मों में काम किया था। पुनीत राजकुमार को लोग अप्पू के नाम से भी जानते हैं। 


पुनीत राजकुमार ने अपने फिल्मी कैरियर में करीब 29 फिल्मों में काम किया है और ज्यादातर में उन्होंने खुद लीड रोल निभाया है। उन्होंने अपने बचपन में ही कई फिल्मों में काम किया है। जिनमें वसंत गीत (1980)  भाग्यवंथा (1981) , इराडू नक्षत्रगालु (1983) भक्त प्रहलाद और यारीवाणु जैसी शानदार फिल्मों में उन्होंने अपने अभिनय का कौशल दिखाया था। उनको सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार के लिए "राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार" भी प्राप्त हो चुका है। जिसके लिए सबसे बड़ी वजह "वेट्टाडा हुवुस" फिल्म थी। जिसमें पुनीत राजकुमार ने एक लड़के "रामू" का किरदार निभाया था।



पुनीथ राजकुमार जिनको लोग अनेकों नामों से जानते थे। जिनमें पॉवर स्टार, अप्पू,  और  युवरत्ना जैसे नामों से जानते थे। उन्होंने अपने जीवन में सबसे ज्यादा सफल फिल्में भी दी हैं। जिनमें अप्पू ( 2002), मौर्य (2007) , अजय (2006) राम (2009), जैकी (2010), अंजनी पुत्र (2017) और फैमस फिल्म राजाकुमार (2017) में दी है। पुनीत राजकुमार उन भारतीय अभिनेताओं में से एक हैं। जो केवल एक फिल्म में काम करने के लिए सबसे ज्यादा फीस लेते थे। जिसकी सबसे बड़ी वजह उनका अभिनय था।



अप्पू ने अपने फिल्मी कैरियर की शुरुआत सन 1976 ईस्वी में की थी। जिनमें वी. सोमशेखरन के नेतृत्व में एक महत्व पूर्ण थ्रीलर फिल्म "प्रेमदा कनिके" में की थी।  इसी के साथ उन्होंने 6 महीने की उम्र में फिल्म "आरती" में भाग लिया था। पुनीत राजकुमार ने "विजय की सनदी अप्पन्ना" और वी. सोमशेखरन की "थायगे ठक्का मांगे" जैसी शानदार फिल्मों में काम किया है। जोकि करीब सत्तर के दशक की फिल्में हैं। 


लोहित राजकुमार (बचपन का नाम) का जन्म भारत के तमिलनाडु राज्य (पूर्व का मद्रास) में 17 मार्च सन् 1975 को हुआ था। उनके पिता का नाम राजकुमार था तथा उनकी माता का नाम पर्वत्तमा राजकुमार था। हालाकि उनके पिता जन्म के बाद चेन्नई से मैसूर आकर बस गए थे। जहां उनके पिता ने उनको मात्र 10 वर्ष की छोटी सी उम्र में ही अभिनय करवाया। पुनीत राजकुमार अपने माता और पिता की पांचवी और आखिरी संतान थे। जिस कारण वह अपने माता और पिता के बहुत दुलारे भी थे। 




पुनीथ राजकुमार के जीवन की सबसे महत्व पूर्ण तारीख 1 दिसंबर 1999 थीं। जिस पर उन्होंने  अपनी जीवन संगिनी अश्वनी रेवंत से बड़ी धूम धाम से शादी की थी। अश्विनी रेवंत  कनार्टक के चिकमंगलौर की रहने वाली हैं। पुनीत राजकुमार को अपनी पत्नी अश्विनी रेवंत  से 2 बच्चे हैं। जोकि दो बेटियां हैं। जिनके प्यारे नाम द्रिथि और वंदिता है। 



Post a Comment

Previous Post Next Post