पांच महान खोजें जिन्होंने मानव सभ्यता के रहन सहन, यात्रा, और उनका दुनिया को देखने का नजीरिया ही बदल दिया

पांच महान खोजें जिन्होंने मानव सभ्यता को बदल दिया।

पांच खोजें जिन्होंने दुनिया को सिर्फ बदला  ही नहीं बल्कि यह खोजें आज मानव जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन चुकी हैं। जिसके कारण आज मानव जीवन में बड़े पैमाने पर बदलाव आ रहें हैं।

1.भाप इंजन की खोज

भाप इंजन की खोज 1776 ईसवी में जेम्स वॉट द्वारा की गई थी। भाप इंजन की खोज से विश्व में औद्योगिक क्रांति की शुरूआत हुई। भाप इंजन बन जाने से बड़ी बड़ी मशीनों की खोज हुई और इन मशीनों को चलाने के लिए भाप इंजन को इन मशीनों में लगा दिया गया। भाप इंजन की खोज के बाद रेलगाड़ी को चलाना आसान हो गया। भाप इंजन की खोज ने ही औद्योगिक क्रांति का आगाज किया। भाप इंजन को आसानी से किसी भी मशीन में लगाया जा सकता था। 

भाप इंजन


सच कहूं तो भाप इंजन की खोज औद्योगिक क्रांति के साथ साथ मशीनी युग का भी आरंभ था। भाप इंजन की खोज से मानव ने अपने विकास को तीव्र गति दी। भाप के इंजन की खोज से प्रेरणा लेकर ड्रेमलर ने पेट्रोल के इंजन की खोज की। जिससे औद्योगिक क्रांति के विस्तार में तेज़ी आई। डीजल इंजन की खोज रुडोल्फ डीजल ने की थी। जिससे औद्योगिक क्रांति के विकास में पर लग गए।

2. बिजली का बल्ब

बिजली के बल्ब की खोज थॉमस अल्वा एडीसन ने की थी। कहा जाता है कि थॉमस अल्वा एडीसन बिजली का बल्ब बनाने में 10,000 बार फ़ैल हुए थे। इससे उनके शहर के लोग उनका मजाक बनाते थे। लेकिन थॉमस अल्वा एडीसन ने हार नहीं मानी और एक दिन उन्होंने अमेरिका की जनता को अपना पहला बल्ब जलाकर कर दिखा दिया।

बिजली बल्ब


आज हम बिजली के बल्ब प्रकाश में बैठकर हर काम कर सकतें हैं। अगर बल्ब की खोज नहीं हुई होती तो आज दुनिया रात को मसाल का प्रयोग कर रहीं होता। बिजली के बल्ब की खोज प्रकाश के क्षेत्र में क्रान्ति का आगाज हुआ। आज हम अनेकों प्रकार के प्रकाश उत्सर्जित करने वाले यंत्र बना चुके हैं। लेकिन इन सभी का आधार थॉमस अल्वा एडीसन का पहला बल्ब था।

3. खनिज की खोज

खनिज तेल की खोज एक नए आधुनिक मशीनी युग की शुरुआत हुईं। जिसने इस पूरी को एक बदल दीया। पहली बार खनिज तेल की खोज एडविन एल ड्रेक ने 1859 में टिटसविले पेंसिल्वेनिया में की थी और दुनिया का पहला तेल का कुआं 1859 में अमेरिका में खोदा गया था।


तेल की खोज


 भारत के असम डिगबोई में एशिया का पहला तेल का कुआं खोदा गया था। 1901 में एशिया की पहली रिफाइनरी स्थापित की गयी। भारत अपनी मांग का 88% तेल विदेश से आयात करता है।  सऊदी अरब के दम्माम में 1938 में अमेरिका द्वारा तेल की खोज की गई और इसके साथ एक रेगिस्तान सोना उगलने लगा। आज सऊदी अरब अपने तेल के दम पर ही खड़ा है। जबकि सभी खाड़ी देशों की अर्थव्यवस्था तेल पर ही टिकी हैं। इन देशों में तेल ख़त्म हुआ। तो ये देश फ़िर से 1947 की पूर्व अवस्था में पहुंच सकतें हैं। 

4.टेलीविजन की खोज

टेलीविजन की खोज आज से 96 वर्ष पहले की गई थी। पहले टेलीविजन की खोज लोगी बेयर्ड ने 1925 में लंदन में की थी। टेलीविजन की खोज ने दुनिया में मनोरंजन के क्षेत्र क्रान्ति ला दी। 1927 में फिलो फा‌र्न्सवर्थ में पहला टेलीविजन आम आदमी के लिए पेश किया गया। जिसको 1 सितंबर 1928 में प्रेस के लिए खोला गया। 

टीवी


बेयर्ड ने दुनिया के पहले रंगीन टेलीविजन की खोज 1928 में की थी।फिलो फा‌र्न्सवर्थ ही पहली कंपनी जिसने 1928 में इलेक्ट्रॉनिक टेलीविज़न का पेटेंट अपने नाम कराया था।अमेरिका में पहला टीवी का लाइसेंस चा‌र्ल्स जेनकिंस को 1928 में दिया गया था। अमेरिका के चांद पर भेजें गए मानव अभियान को 6 करोड़ लोगों ने देखा था। भारत में पहली बार टेलीविज़न की शुरुआत दिल्ली से 15 सितंबर, 1959 को की गई थी।

आज आधुनिक काल में मानव टीवी के बिना नहीं रह सकता है। टीवी आज मानव के जीवन का एक हिस्सा बन गया है। आज टीवी से LED TV तक की खोज हो गई है। बड़े बड़े सिनेमा हॉल खुल गए हैं। जिसमें हजारों लोग एक साथ बैठ कर कोई भी फ़िल्म देख सकतें हैं।

5. हवाई जहाज की खोज

हवाई जहाज की खोज आज से 117 वर्ष पहले 17 दिसंबर 1903 राइट बंधुओं ऑरविल और विलबर ने की थी। ये दोनों राइट बंधु अमेरिकी निवासी थे।

Airplane


14 दिसंबर 1903 में राइट बंधुओं ऑरविल और विलबर ने उत्तरी कैरोलिना में राइट फ्लायर पर सफल उड़ान भरी थी। तब यह विमान 120 फिट की ऊंचाई तक गया था और 12 सेकंड तक ऊपर हवा में रहा था। तब से आज आधुनिक काल में मानव बड़े बड़े हवाई जहाज बना चुका है। इसके साथ मानव ने रॉकेट, लड़ाकू विमान और इसके साथ ही अंतरिक्ष में एक उड़ता हुआ अंतरिक्ष स्टेशन बना लिया है। हवाई जहाज से मानव आज हजारों किलोमीटर की दूरी कुछ घंटो में तय कर लेता है। हवाई जहाज ने मानव के ट्रांसपोर्ट सिस्टम में क्रांति ला दी।

Post a Comment

Previous Post Next Post