अंग्रेजो ने भारतीयों को स्वतंत्रता देने से पूर्व उन्होंने भारत में बड़े बड़े कांड किए,

स्वतंत्रता से पहले के 8 रोचक तथ्य

हम सब जानते हैं कि 1947 से पहले भारत एक गुलाम देश था इस समय में भारत में कुछ महत्वपूर्ण कार्य भी हुए थे। जिसमें कुछ भारतीयो के लिए ठीक थे और कुछ भारत के खंडित करने वाले थे।  हम सब जानतें हैं कि अंग्रेजो ने इस देश को जमकर लूटा भी था। एक रिसर्च के अनुसार, ब्रिटेन ने भारत से करीब 42 ट्रिलियन डॉलर की अंधी लूट की थी। जिसमें अंग्रेजी अफसर  हैं और वहां की व्यवसायिक कंपनिया भी शामिल हैं।  उनमें से कुछ 8 रोचक तथ्य हैं।



1.सिंधु घाटी सभ्यता  की खोज

सिंधु घाटी सभ्यता  की खोज से पहले भारत को सांपो और सपेरों का देश कहा जाता था। सिंधु घाटी सभ्यता  की खोज ने भारत को सबसे महान देशों में शामिल करा दिया। क्यों कि जब यूरोप के लोग जंगलों में जीवन जीते थे। तब भारत में एक आधुनिक सभ्यता विकसित हो गई थी। सिंधु घाटी सभ्यता  की खोज दया राम साहनी ने 1921 में की। इतिहासकारों का मानना है कि सिंधु घाटी सभ्यता लगभग 8000 साल पुरानी हो सकती है। लेकिन कुछ इतिहासकार 3300 से 2500 ईसा पूर्व मानते हैं। सिंधु घाटी सभ्यता दुनिया की पहली नगरीय सभ्यता थी। जिसमें मोहनजोदड़ो, और हड़ाप्प शहर प्रमुख थे।सिंधु घाटी सभ्यता को हड़प्पा सभ्यता भी कहा जाता है। सिंधु घाटी सभ्यता सरस्वती नदी के तट पर वसी थीं। सिंधु घाटी सभ्यता को काँस्ययुगीन  सभ्यता भी कहा जाता हैं। क्योंकि सिंधु के लोगों ने पहली बार काँस्य का प्रयोग किया था। 


2.भारत की पहली  फिल्म

भारत में बनी पहली फिल्म राजा हरिश्चन्द्र थीं। राजा हरिश्चन्द्र फ़िल्म सूर्यवंशी राजा हरिश्चन्द्र के जीवन पर आधारित है। यह एक मूक दर्शक फिल्म थीं। इसके निर्माता और निर्देशक दादासाहब फाल्के जी थे। और इस फ़िल्म के अभिनेता  दत्तात्रय दामोदर दबके जी थे।  इस फिल्म का कुल समय  41 मिनट था।

3. भारत में पहली बार रेलगाड़ी का चलना।

भारत में पहली बार रेलगाड़ी 16 अप्रैल 1853 बॉम्बे से ठाणे के बीच चली थीं। बंबई से ठाणे के बीच दूरी 34 किलोमीटर थीं और इसके साथ ही पहली पैसेंजर ट्रेन बॉम्बे से ठाणे के बीच चली। आज से 168 साल पहले भारत में रेलगाड़ी चलाकर इतिहास बनाया गया था। इस समय भारत का वायसराय लॉर्ड डलहौजी था। 

4. भारत की पहली जनगणना।

भारत में पहली जनगणना 1872 में हुई है। यह जनगणना ब्रिटिश भारत के वायसराय लार्ड मेयो ने करायी थी।जनगणना को हर 10 साल बाद कराने का निर्णय लिया गया। 

पहली जनगणना का उद्देश्य क्या था? 

इस जनगणना का मुख्य उददेश्य था कि भारत को ज्यादा समय तक कैसे गुलाम बनाये रखा जाये। जनगणना का उद्देश्य लोगों और समाज को समझने का कतई नहीं थ और ना ही समाज को अंदर से जानने का कोई उद्देश्य था। 

5.भारत की जनसंख्या में पहली बार गिरावट।

भारत की जनसंख्या में पहली बार गिरावट 1911 से 1921 के बीच हुईं थीं। इस समय भारत में स्पैनिश फ्लू महामारी फैली हुई थी इसलिए 1921 में भारत की जनसंख्या में एक बार गिरावट दर्ज की गई। स्पैनिश फ्लू से भारत में  1.5 करोड़ लोग मरे थे। तभी पहली बार भारत की जनसंख्या में गिरावट आई थी। 1911 में भारत की जनसंख्या 252,093,390 करोड़ थी। लेकिन 1921 में यह 251,321,213 ही रह गई।  लगभग भारत की जनसंख्या में 1.50 करोड़ कमी हो गई थी। 1921 के बाद कभी भारत की जनसंख्या में गिरावट नहीं दर्ज की गई।

6. 1905 का बंगाल विभाजन।

बंगाल का विभाजन 1905 में  लॉर्ड कर्जन की कुटिल नीति थी। जिससे वह भारत की हिदुं मुस्लिम एकता को तोड़ देना चाहता था। उसने बंगाल को पूर्वी बंगाल और पश्चिमी बंगाल में विभाजित कर दिया। यह घटना भारत के इतिहास में काले धब्बे की तरह है।

7.दिल्ली का भारत की राजधानी बनना।

अंग्रेजों ने अपनी पहली राजधानी कोलकाता बनाया था। लेकिन अंग्रेजो ने भारत की राजधानी को कोलकात्ता से दिल्ली में 12 दिसंबर 1911 को बदली।। दिल्ली दरबार के समय , जॉर्ज पंचम ने दिल्ली को भारत की राष्ट्रीय राजधानी की घोषना की और जॉर्ज पंचम के साथ उनकी पत्नी मेरी भी भारत आई थी। George पंचम भारत के सम्राट थे।  

8. 1937 में ब्रिटिश भारत से बर्मा को अलग करना।

बर्मा को अंग्रेज सरकार ने ब्रिटिश भारत से 1937 में अलग कर दिया। जब कि बर्मा को ब्रिटिश भारत से अलग करने के 10 साल बाद भारत आजाद हो गया था। अगर आज बर्मा भारत में शामिल होता। तो भारत के क्षेत्रफल में 6,76,575 km² का बड़ा क्षेत्र शामिल होता।


Post a Comment

Previous Post Next Post