102 मंजिला आकार का क्षुद्र ग्रह7482 ( 1994PC1) , जो हमारी पृथ्वी के बेहद करीब होकर गुजरेगा

एक वृहद आकार का क्षुद्र ग्रह हमारी पृथ्वी की ओर बड़ी तेजी से आ रहा है। जो हमारी पृथ्वी के बेहद नज़दीक से होकर गुजरने वाला है।

धरती की ओर बढ़ता हुआ एस्टेरॉयड (प्रतीकात्मक)

हालाकि  क्षुद्र ग्रह से डरने की कोई बात नहीं है। क्योंकि यह हमारी पृथ्वी से बहुत दूर से नमस्ते करते हुए निकल जायेगा। खगोलविदों के अनुसार, यह क्षुद्र ग्रह पृथ्वी से लगभग 12 लाख किलोमीटर दूर से गुजरेगा। अगर हम इस दूरी की तुलना पृथ्वी के उपग्रह चांद से करते हैं तो यह करीब पांच गुना होती है। यह हमारी पृथ्वी के करीब से मंगलवार (18 जनवरी) को गुजरेगा।

क्षुद्र ग्रह 7482 ( 1994PC1) 

यह एक विशाल खगोलीय पिंड है। जिसकी ख़ोज नासा के वैज्ञानिकों द्वारा की गई है। इसकी ख़ोज का श्रेय नासा के खगोलशास्त्री आरएच मैकनॉट को जाता है। उन्होंने इसकी ख़ोज सन् 1994 में की थीं। वैसे हमारी पृथ्वी के पास से सैकड़ों क्षुद्र ग्रह होकर गुजर जातें हैं। लेकिन यह दूसरे क्षुद्र ग्रहों में काफ़ी बड़ा है। नासा ने पिछले सप्ताह एक ट्वीट किया कि क्षुद्र ग्रह 7482 ( 1994PC1) हमारी पृथ्वी से बहुत नज़दीक है और कई दशकों से हमारे ग्रह रक्षा विशेषज्ञों द्वारा अध्यन किया गया। इसलिए  क्षुद्र ग्रह 7482 ( 1994PC1)  से हमारे ग्रह को कोई खतरा नहीं है। 

क्षुद्र ग्रह 7482 ( 1994PC1) पृथ्वी के लिए खतरा क्यों माना जाता

यह क्षुद्र ग्रह भी पृथ्वी के लिए एक बड़ा संभावित खतरा है। क्योंकि यह हमारी पृथ्वी की कक्षा (ऑर्बिट) को पार कर जाता है। यहीं कारण है कि यदि यह हमारे ग्रह से टकराता है तो मानव सभ्यता और दूसरा जीवन भी डायनासोर्स की तरह लुप्त हो सकता है। क्योंकि जब एक 100 मंजिला इमारत के आकार का क्षुद्र ग्रह पृथ्वी से टकराएगा। तो उससे कई परमाणुओं के बराबर ऊर्जा निकलेगी और संपूर्ण पृथ्वी को नष्ट कर देगा। 

नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार, इसको कोई भी व्यक्ति 6 इंच वाले या उससे भी अधिक टेलीस्कोप से ही देख सकता है। क्योंकि यह 43,754 किलोमीटर प्रति घंटा से गति कर रहा है। इसके अलावा क्षुद्र ग्रह 7482 ( 1994PC1) सूर्य की परिक्रमा 1.5 वर्ष में करता है। यह हमारी पृथ्वी के करीब से 2105 के बाद ही आयेगा। अर्थात् अब यह पृथ्वी के बेहद नज़दीक 83 वर्षों के बाद ही आयेगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post