भारत की टैनिस गर्ल ने कोर्ट को हमेशा के लिए अलविदा कहा। सानिया मिर्जा की पहली शादी टूट जानें के बाद, 2009 में शोएब मलिक को डेट करना शुरू किया।

भारत की स्टार टैनिस गर्ल सानिया मिर्जा ने अपने सन्यास का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि उनका 2022 आखिरी सीजन है। 

मिर्ज़ा ने अपने रिटायरमेंट की बात ऑस्ट्रेलियन ओपन के मैच के बाद कहीं। इसके साथ ही सानिया मिर्जा ने कहा कि मुझे लगता है कि मेरा शरीर अब थकने लगा है और इसके ठीक होने में अधिक समय लगने लगा है। प्रेरणा और ऊर्जा का स्तर पहले जैसा नहीं रहा है। इसके अलावा मैं अपने तीन साल के बेटे मिर्ज़ा को अपने साथ लेकर जोख़िम भरी यात्रा करती हूं। इसलिए यह सब मुझे ध्यान में रखना है। 

यह भी पढ़ें; 102 मंजिला आकार का क्षुद्र ग्रह7482 ( 1994PC1) , जो हमारी पृथ्वी के बेहद करीब होकर गुजरेगा

35 वर्षीय सानिया मिर्जा अपनी यूक्रेनी साथी नादिया किचेनोक के साथ ऑस्ट्रेलियन महिला युगल स्पर्धा में हार का सामना करना पड़ा है। उनकी जोड़ी स्लोवेनिया की काजा जुवान और तमारा जिदानसेक से हार गई। 

सानिया मिर्जा का जीवन 

सानिया मिर्जा एक सुन्नी हैदराबादी मुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखती हैं। इनका जन्म 15 नवम्बर 1986 को मुम्बई महाराष्ट्र में हुआ था। वह हमेशा अपने प्रारंभिक नस्र स्कूल का उल्लेख करती रहती हैं। जहां से उन्होंने अपनी शुरूआती पढ़ाई पूरी की। इसके बाद मिर्ज़ा ने सेंट मैरी कॉलेज, हैदराबाद से स्नातक किया। उन्होंने चेन्नई के डॉ एमजीआर एजुकेशनल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट से 11 दिसम्बर 2008 को डॉक्टर ऑफ लेटर्स की मानद उपाधि भी प्राप्त की। 

सानिया मिर्जा की पहली बार शादी भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद असदुद्दीन से हुई है, लेकिन वह ज्यादा दिन नहीं चल सकीं और टूट गई।  मोहम्मद असदुद्दीन भारतीय राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन के बेटे हैं।

यह भी पढ़ें;  भारत एक ख़ोज खबर एक दृष्टि में।

इसके बाद मिर्ज़ा पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक को डेट करने लगीं। उन्होंने 12 अप्रैल 2010 को हैदराबादी परंपरा से शादी कर ली।  उन दोनों से एक बेटा इजहान मिर्ज़ा मलिक भी है। 

सानिया मिर्जा का विवादों से भी पुराना नाता रहा है। उन्होंने 2006 में मुस्लिम लोगों के डर इजराइली खिलाड़ी के साथ खेलने से मना कर दिया। एक बार मौलाना ने उनके कपड़ों के खिलाफ एक फतवा भी जारी कर दिया था। क्योंकि वह खेल के समय छोटे कपड़ों में दिखाई पड़ती हैं। हालाकि बाद में इसको लेकर कोई ज्यादा विवाद नहीं हुआ।

सानिया मिर्जा का कैरियर

सानिया मिर्जा भारत की पहली टैनिस खिलाड़ी हैं। जो युगल स्पर्धा में विश्व नंबर वन रहीं हैं। उन्होंने अपने लम्बे टैनिस कैरियर में 6 ग्रैंड स्लेम के खिताब जीतें हैं। मिर्ज़ा ने टैनिस की एकल  स्पर्धा में 2013 में सन्यास ले लिया था।  वह भारतीय टेनिस में एक नंबर वन खिलाड़ी रहीं हैं।

सानिया मिर्जा को पद्म भूषण, अर्जुन पुरस्कार (2004), पद्म श्री (2006), डब्ल्यूटीए न्यूकमर ऑफ द ईयर (2005) और मेजर ध्यानचंद खेल रत्न (2015) आदि महत्वपूर्ण पुरस्कार प्राप्त हो चुकें हैं। इसके अलावा मिर्ज़ा को टाईम पत्रिका ने 2016 में 100 प्रभावशाली महिलाओं की सूची में स्थान दिया।

Post a Comment

Previous Post Next Post