यूक्रेन विवाद के बीच, भारत ने यूएस के साथ 22000 करोड़ के प्रीडेटर ड्रोन सौदा रद्द किया। World Affairs hindi

भारत सरकार अपनी तीनों सेनाओं के लिए  30 प्रिडेटर ड्रोन अमेरिका से खरीदना चाहती थी। लेकिन अमेरिका के तकनीक हस्तांतरण पर आनाकानी से भारत सरकार ने इस डील को रद्द कर दिया।


एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय सेना के लिए 3 अरब डॉलर मूल्य (22000 करोड़ रूपए ) के ड्रोन खरीदने का फैसला फिलहाल टाल दिया गया है।  इस संबंध में भारत सरकार की ओर से अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन को सूचित कर दिया गया है।

भारत सरकार नौसेना, आर्मी और एयरफोर्स के लिए 10-10 प्रिडेटर ड्रोन खरीदना चाहती थी। अभी भारतीय नौसेना अमेरिका से लीज पर लिए जनरल एटॉमिक्स से दो एमक्यू-9बी सीगार्डियन ड्रोन का उपयोग कर रहीं है। इसी से प्रभावित होकर, भारतीय रक्षा बलों ने 10-10 ड्रोन खरीदने का अनुबंध किया था।

अगर भारत को अमेरिका का MQ-9Bs ड्रोन प्राप्त हो जाता है। तो वह इन्हें खरीदने वाला पहला गैर नाटो देश बन जाता। प्रिडेटर ड्रोन में भारत ने 2019 में दिलचस्पी ली थी, तब ट्रंप प्रशासन ने इस डील को हरी झंडी दे दी थी।

प्रीडेटर ड्रोन खरीदने की योजना को ठंडे बस्ते में डाल दी गई, जिसका कारण यह है कि भारत के पास भी प्रीडेटर जैसे ड्रोन बनाने की क्षमता है। अभी भारत इजराइल के हेरॉन ड्रोन को अपग्रेड को ही उन्नत बना रहा है। यह एक मध्यम ऊंचाई वाला मानव रहित ड्रोन ही है। इसे भारत हथियारों से लैस करना चाहती है। ताकि वह मिसाइलों और लेजर निर्देशित बमों को निशाना बना सकता है। 

कुछ मीडिया रिपोर्ट का कहना है कि भारत सरकार ने यूक्रेन विवाद के कारण यूएस से प्रीडेटर ड्रोन डील रद्द की है। हालाकि ऐसा कुछ नहीं है। भारत अब इजराइल के साथ साथ मिलकर ड्रोन विकसित कर रहा है। दूसरी तरफ यूएस भारत को रूस से हथियार नहीं खरीदने के लिए दबाव बनायेगा। इसलिए भारत रूस और अमेरिका दोनों से हथियार कम खरीदेगा। भारत अपनी रक्षा जरूरतों को अपने घर से ही पूरी करेगा। इसमें इजराइल का सबसे बड़ा रोल रहेगा।

प्रिडेटर ड्रोनM Q1 प्रीडेटर ड्रोन
भूमिकारिमोट पायलटेड एयरक्राफ्ट या मानव रहित लड़ाकू हवाई वाहन
राष्ट्रीय उत्पादअमेरिका
उत्पादककर्ता सामान्य परमाणु वैमानिकी प्रणाली
पहली उड़ान3 जुलाई 1994, आज से 28 वर्ष पहले
परिचय हुआ1 जुलाई 1995, आज से 27 वर्ष पहले
MQ 1 सेवा मुक्त 9 मार्च 2018 यूएस एयरफोर्स
मारक क्षमता1200 किमी
गति217 किमी/घंटा
पंख फैलाव15 मीटर

Post a Comment

Previous Post Next Post