पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर हिजाब डे क्यों मनाने जा रहा है? वर्ल्ड अफेयर्स प्रशान्त धवन

पाकिस्तान के धार्मिक मंत्री ने 8 मार्च को हिजाब डे मानने की अनुसंसा की। जिससे पाकिस्तान भारत को टारगेट कर सकता है। क्योंकि भारत में ही हिजाब पर विवाद छिड़ा हुआ है। हालाकि यह बहुत ही निचले स्तर पर है। जोकि भारत के कर्नाटक राज्य के उडुप्पी शहर से शुरू हुआ था।


लेकिन पाकिस्तान का 8 मार्च को हिजाब डे मनाने का निर्णय कुछ ओर ही कारण से लिया जाना है। दरअसल पाकिस्तान में हर साल 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस  होता है। इसी दिन पर पाकिस्तान की महिलाएं लाहौर, इस्लामाबाद, पेशावर और कराची जैसे पाकिस्तानी शहरों में औरत मार्च निकाला करती हैं। जबकि हर वर्ष पाकिस्तान के कट्टरपंथी इस्लामी लोग औरत मार्च का विरोध करते हैं। 


लेकिन इमरान खान सरकार पाकिस्तान के कट्टरपंथी लोगों को खुश करने के लिए औरत मार्च को बिल्कुल बंद करा देना चाहती है। लेकिन विदेशी दवाब के कारण वह ऐसा कुछ नहीं कर सकता है। तो इसीलिए इमरान खान के मंत्री नूरल हक कादरी ने औरत मार्च के दिन हिजाब डे मनाने का निर्णय लिया।


इस मंत्री  मंत्री नूरल हक कादरी का कहना है कि कुछ राजनीतिक नेता (सांसद शेरी रहमान के ट्वीट का हवाला देते हुए) पत्र को पढ़े बिना नकारात्मक प्रचार फैलाने की कोशिश कर रहे थे।  मंत्री ने आगे कहा है कि भारत में मुस्लिम लड़कियों को हिजाब पहनने के कारण मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा था और उनके साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को हिजाब दिवस के रूप में मान्यता मनाने का प्रस्ताव दिया।

इन दिनों पाकिस्तान की सभी विरोधी पार्टियां इमरान ख़ान को हटाने के लिए एक जुट हो रहीं हैं। यहीं कारण है कि वह पाकिस्तान के कट्टरपंथियों को खुश करना चाहते हैं। ताकि वह पाकिस्तान के पीएम पद पर आसीन रहें।

पाकिस्तान की संसद में कुल 342 सीटें हैं, जिसमें सरकार बनाने के लिए 176 की जरुरत पड़ती है। अब इमरान खान की पीटीआई के पास भी पूर्ण बहुमत नहीं है। वह दूसरी पार्टियों के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं। उनकी पार्टी के पास कुल 155 सीटें हैं। जबकि पाकिस्तानी विपक्ष के पास 150 के करीब सीटें हैं। पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियों इमरान खान सरकार के खिलाफ़ संसद में अविश्वास प्रस्ताव ला रही हैं। जिससे इमरान खान की कुर्सी खतरे में लग रही है।

Post a Comment

Previous Post Next Post