भारतीय पीएम मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से यूक्रेन युद्ध पर बातचीत की, पीएम मोदी ने पुतिन से हिंसा रोकने को कहा। World Affairs in hindi

भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी से रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन मुद्दे पर बात की। पुतिन ने यूक्रेन से संबंधित घटनाचक्र पर पीएम मोदी को जानकारी दी। पीएम मोदी ने रूस के सामने अपने लंबे समय से चले आ रहे विश्वास को दोहराया और कहा कि रूस और नाटो को अपने बीच के मतभेदों को राजनायिक और ईमानदारी से सुलझाने चाहिए।

पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति पुतिन

पीएम मोदी ने रूसी राष्ट्रपति से फोन कॉल  की बातचीत में कहा कि पुतिन को अब हिंसा का रास्ता बिल्कुल बंद करना चाहिए और राजनयिक वार्ता और बातचीत के रास्ते पर लौटना चाहिए। इसके लिए सभी पक्षों से ठोस प्रयास करने का आह्वान करना चाहिए।

भारतीय पत्रकार राज कौल

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति से यूक्रेन में फंसे भारतीयों के बारे में भी बातचीत की। उन्होंने यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों, विशेष रूप से भारतीय छात्रों की सुरक्षा के बारे में भारत की चिंताओं पर बात की और उन्हें भारत की इस चिंता के बारे में अवगत कराया। भारत अपने सभी नागरिकों को यूक्रेन से सुरक्षित बाहर निकालने और उन्हें वापस भारत लाने की प्राथमिकता है।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और भारतीय पीएम मोदी ने इस बात पर सहमति जताई कि दोनों देश के अधिकारी और राजनयिक वर्तमान हितों के मुद्दो पर नियमित तौर पर संपर्क बनाए रखेंगे।

इससे पहले भारत में यूक्रेन के राजदूत ने भारतीय पीएम मोदी  से निवेदन किया था कि पीएम मोदी रूसी राष्ट्रपति से बात करें और रूसी आक्रमण यूक्रेन पर रूकने चाहिए। इस दौरान उन्होंने महाभारत का भी हवाला दिया और कहा कि महाभारत के युद्ध को नहीं रोका जा सका। लेकिन भारतीय पीएम रूस यूक्रेन युद्ध को रोक सकतें हैं। क्योंकि वह एक वैश्विक नेता बनकर उभरे हैं। जिनकी बात को दुनिया का कोई देश  मानने से इन्कार नहीं करता है। इसके अलावा भारत के रूस और अमेरीका दोनों देशों से संबंध बहुत अच्छे हैं।

हालाकि इस समय भारत की पहली प्राथमिकता भारतीय नागरिकों को यूक्रेन से सुरक्षित बाहर निकालने की है। भारत भी नहीं चाहता है कि यूक्रेन रूस युद्ध आगे बढ़े और यह आगे चलकर विश्व युद्ध का रूप धारण करें। 

Post a Comment

Previous Post Next Post