अमेरिका ने भारत को दक्षिण एशिया का सुपर पावर घोषित किया, चीन को क्वॉड देशों का सख्त संदेश। World Affairs Prashant Dhawan Unacademy

अमेरिका ने भारत को दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी शक्ती घोषित कर दी। अमेरिका ने भारत को दक्षिण एशिया का लीडर अपनी इंडो पैसिफिक नीति के तहत्  माना है। जिसमें यूएस ने साफ लिखा है कि दक्षिण एशिया में भारत का उदय अमेरिका के राष्ट्रीय महत्त्व का विषय है। 



इंडो-पैसिफिक स्ट्रैटजी ऑफ यूनाइटेड स्टेट्स 

अमेरिका ने अपनी इंडो पैसिफिक स्ट्रैटजी में भारत के विषय में कहा है कि हम भारत के उत्थान के लिए और दक्षिण एशिया में एक रणनीतिक साझेदारी के लिए कार्य करते रहेंगे। यूएस दक्षिण एशिया में स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए क्षेत्रीय समूहों के माध्यम से मिलकर काम करता रहेगा। वह भारत के साथ इंडो पैसिफिक के साथ साथ स्पेस, साइबर स्पेस, आर्थिक और प्रौद्योगिकी सहयोग को बढ़ावा देगा। अमेरिका का मानना है कि भारत दक्षिण एशिया और हिन्द महासागर में समान विचारधारा वाला एक सबसे बड़ा लीडर है। जो दक्षिण पूर्व एशिया में सक्रिय भूमिका निभाता चला आ रहा है।  भारत क्वाड और अन्य क्षेत्रीय की एक प्रेरक शक्ति है? 

भारत की विख्यात महीला पत्रकार पलकी शर्मा उपाध्याय का जीवन परिचय

अमेरिका के व्हाइट हाउस ने कहा कि भारत को बहुत महत्वपूर्ण चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के व्यवहार का भारत पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ा है। यूएस के दृष्टिकोण से, हम दूसरे लोकतंत्र के साथ काम करने के लिए जबरदस्त अवसर देखते हैं । जिसमें एक ऐसे देश के साथ जिसकी समुद्री परंपरा रही है, जो महत्व को समझता है  

गलवान घाटी ने अमेरिका और पश्चिमी देशों को बदल दिया

15 जून 2021 को हुई गलवान घाटी ने अमेरिका और पश्चिमी देशों की मानसिक स्थिति में बड़े पैमाने पर बदलाव ला दिया। क्योंकि इससे पहले इन सभी देशों ने चीन को सुपर पावर मान लिया था। लेकिन गलवान घाटी ने चीन की शक्तिशाली तस्वीर को धूमिल कर दिया। जिसको उसने दुनिया के सामने बड़े मुश्किल से बनाया था। 

दूसरी तरफ भारत भी चीन के खिलाफ़ धीरे धीरे खड़ा हो रहा है। यहीं कारण है कि आज इंडो पैसिफिक की सुरक्षा को लेकर क्वॉड देश एक सहमत हैं। जिसमें वह साफ़ तौर पर चीन का नाम नहीं लेते हैं लेकिन क्वॉड देशों की इंडो पैसिफिक नीति चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए है।

दक्षिण एशिया
देश भारत पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल, मालदीव, भूटान, अफगानिस्तान
जनसँख्या 1.94 अरब
जनसँख्या घनत्व 362.3 वर्ग किमी 
भारतीय जनसंख्या1.34 अरब
क्षेत्रफल 5,134,641 वर्ग किमी
सबसे बड़ा देश भारत, आज़ादी इंग्लैंड से, 15 अगस्त 1947, प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू
सबसे छोटा देश मालद्वीप, इसे 1965 में अग्रेजों से आज़ादी प्राप्त हुई है
क्षेत्र का बड़ा देश भारत,
दक्षिण एशिया का संगठन दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन, दक्षेस
दक्षेस की स्थापना 8 दिसंबर 1985, ढाका, बांग्लादेश, मुख्यालय; काठमांडू, नेपाल
दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा समुद्र हिन्द महासागर

Post a Comment

Previous Post Next Post