हमारे सौरमंडल और ब्रह्मांड के बारे में टॉप 15 फैक्ट्स हिंदी में। Top 15 facts On Solar system and Universe

सौरमंडल और ब्रह्मांड के बारे में टॉप 15 फैक्ट्स

इमेज़ क्रेडिट, PINTEREST

1.हमारे सौर मंडल में बुद्ध और शुक्र ही दो ही ऐसे ग्रह हैं। जिनका कोई भी चंद्रमा नहीं है।

हमारे सौर मंडल में कुल 181 ज्ञात चंद्रमा हैं। जिनमें सभी सौर मंडल मौजूद होकर अपने अपने ग्रहों की परिक्रमा कर रहे हैं। उनमें से कुछ का आकार बुध ग्रह से बड़ा है।

2. क्या होगा यदि तारा एक ब्लैक होल के नजदीक से गुजरे, क्या वह तारा टूट सकता है?

इस विषय पर खगोलविदों का मानना है कि यदि तारा गुरुत्वाकर्षण रेडशिफ्ट होने के कारण ब्लैक होल के नजदीक से गुजरता है तो वह ब्लैक होल के गुरुत्वाकर्षण अधिकता के कारण तारा अपने प्रकाश की ऊर्जा को खो देगा। 

3.हमारे सौरमंडल का गर्म ग्रह शुक्र है। कारण -

शुक्र ग्रह सभी ग्रहों में सबसे ज्यादा गर्म ग्रह है। जबकि वह बुध ग्रह सूर्य का सबसे नजदीकी ग्रह है। शुक्र ग्रह के सबसे अधिक गर्म होने का कारण "ग्रीनहाउस प्रभाव" है। क्योंकि वहां का वायुमंडल गैसों से बना हुआ है। शुक्र ग्रह की सतह का तापमान 864 डिग्री फ़ारेनहाइट (462 डिग्री सेल्सियस)  तक होता है।

4.हमारे घर सौरमंडल की उम्र 4.57 अरब साल है। 

हमारी धरती सौर मंडल में स्थित है और हम धरती पर रहते हैं। हमारे सौर मंडल 4.57 अरब (30 मिलियन वर्ष) साल पुराना है। 

5. सूर्य 5 अरब साल में पृथ्वी को निगल जायेगा। क्यों -

दुनियाभर के खगोलविदों का मानना है कि सूर्य अगले 5 अरब सालों में एक विशालकाय दानव का रूप धारण कर लेगा। यह लगभग 7.5 अरब वर्षों में हमारी पृथ्वी को भी निगल जायेगा।

6. शनि ग्रह का चंद्रमा "एन्सेलेडस" सूर्य के प्रकाश को 90% तक परावर्तित करता है। क्यों -

एन्सेलेडस सूर्य के 90% प्रकाश को परावर्तित करता है। क्योंकि उसकी बर्फीली सतह सूर्य के प्रकाश को अवशोषित करने बजाय प्रतिबिंबित करती है। यही कारण है कि यहां का तापमान -394 डिग्री फ़ारेनहाइट (-201 डिग्री सेल्सियस) तक पहुंच जाता है।

 7. सौर मंडल का सबसे ऊंचा पर्वत ओलंपस मॉन्स है। यह है -

हमारे सौरमंडल का सबसे ऊंचा पर्वत ओलंपस मॉन्स मंगल ग्रह पर स्थित है। यह धरती के सबसे ऊंचे पर्वत माउंट एवरेस्ट से 3 गुना ऊंचा है। इसकी कुल ऊंचाई 22,000 मीटर है। यह कुल 624 किलोमीटर दूर तक फैला हुआ है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह एक ज्वालामुखी पर्वत है, जो 25 मिलियन वर्ष पहले फटा था।

8. भंवर आकाशगंगा एक अद्भुत खगोलीय वस्तु है। कारण - 

भँवर आकाशगंगा (m51) एक सर्पिल आकाशगंगा के रूप में जानी जाती है। यह बड़ी दिव्य, सर्पिल भुजाओं, तारों और गैस की लंबी लंबी कतारें से बनी होती है। इस आकाशगंगा से नए तारों का निर्माण चलता रहता है।

 9. मानव सभ्यता में प्रकाश बर्ष एक गति की सीमा है, जिसको वह कभी पार नहीं कर सकता। कारण -

प्रकाश लगभग 300,000 किलोमीटर (186,411 मील प्रति सेकंड से) प्रति सेकंड के वेग से गति करता है। इस हिसाब से 1 प्रकाश बर्ष 9.5 ट्रिलियन किलोमीटर  (5,878,625,370,000 मील ) के बराबर होता है।

10. हमारी आकाशगंगा का कुल व्यास 105,700 प्रकाश बर्ष है।

हमारी आकाशगंगा का अंग्रेजी नाम मिल्की वे है। इसका व्यास एंड्रोमेडा गैलेक्सी से आधा है। मिल्की वे आकाशगंगा का व्यास 105,700 प्रकाश वर्ष (1,000,000,000,000,000,000 किमी में) है और एंड्रोमेडा गैलेक्सी का व्यास 220,000 प्रकाश बर्ष है। मानव को आधुनिक अंतरिक्ष यान से गैलेक्सी के केंद्र तक पहुंचने में 450,000,000 साल लग जाएंगे। 

11. सूर्य हमारी धरती के व्यास का 109 गुना बड़ा है, जो अपने अंदर 1,300,000 गुना अधिक पृथ्वी को समा सकता है। कारण -

सूर्य का कुल व्यास 864,400 मील (1,391,000 किलोमीटर) है। सूर्य का वजन 333,000 गुना अधिक है। सूर्य में 1,300,000 ग्रह पृथ्वी समा सकती हैं। हमारे सौरमंडल का कुल द्रव्यमान 99.86% सूर्य में शामिल है। दूसरी तरफ पृथ्वी का व्यास 12,742 किमी (7,917.5 मील) है।

12. चंद्रमा पर कभी भी मानव पैरों के चिन्ह गायब नही होते हैं। कारण -

खगोलविदों का कहना है कि पृथ्वी के उपग्रह चंद्रमा पर कभी भी मानवीय पैरो के चिन्ह गायब नही होगें। जिसका कारण चंद्रमा पर हवा और वायुमंडल का न होना है। किंतू  अमेरीकी खगोलविद चांद पर झंडा कैसे फैला रहे थे? लेकिन वास्तव में वह झंडा फहराया नहीं रहें थे। आंधी तूफान न चलने के कारण मानव पैर चंद्रमा पर हजारों वर्षों तक ऐसे ही बने रहेगे।

13. सौर मंडल सबसे अधिक चंद्रमा वाला ग्रह शनि है। 

सौर मंडल में शनि ग्रह दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है। इसके ग्रहों की संख्या 82 है। जबकि दुसरे स्थान पर बृहस्पति ग्रह 79 चंद्रमाओं के साथ आता है। 

शनि हमारे सौर मंडल में सबसे अधिक चंद्रमाओं वाला ग्रह है, और हमारे सौर मंडल में बृहस्पति ग्रह का चंद्रमा सबसे बड़ा है। गेनीमेड सौर मंडल का सबसे बड़ा उपग्रह है। जिसका व्यास 5,262 किमी (33,279 मील) है। इसका आकार बुध ग्रह से बड़ा है। 

14. लाल ग्रह का एक दिन 24 घंटे 39 मिनट 35 सेकेंड का होता है। कारण -

मंगल ग्रह (लाल ग्रह) पृथ्वी के समान दैनिक चक्र वाला ग्रह है। इसका 'नाक्षत्र' दिन 24 घंटे 37 मिनट 22 सेकेंड का होता है और इसका सौर दिन 24 घंटे, 39 मिनट और 35 सेकंड का होता है। मंगल ग्रह का एक वर्ष 687 दिनों के बराबर होता है। क्योंकि वह धरती के अपेक्षा धीमी गति से सूर्य की परिक्रमा करता है।

15.अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन मानव सभ्यता का सबसे बड़ा खगोलीय पिंड अंतरिक्ष में है। 

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन को संक्षिप्त में ISS भी कहते हैं। यह 109 मीटर लंबा है और पृथ्वी से 400 किमी ऊपर अंतरिक्ष में चक्कर काट रहा है। इसको बनाने में 160 बिलियन डॉलर का खर्च आया है। इसका कुल भार 419,455 किलोग्राम है। इसके अलावा धरती पर रात में यह तीसरी सबसे चमकीली वस्तु है।

Post a Comment

Previous Post Next Post