रूस ने मानव इतिहास में पहली बार यूक्रेन पर दांगी जिरकॉन हाइपरसोनिक मिसाइल, पुतिन का आदर्श हथियार किंझल मिसाइल। भारत की हाइपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस 2

रूस द्वारा मानव सभ्यता में पहली बार हाइपरसोनिक मिसाइल का उपयोग।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन पर कोई दया नहीं दिखा रहें हैं। जैसे जैसे यूक्रेन रूस युद्ध आगे खींचते जा रहा है। वैसे वैसे रूस अपने बेहद आधुनिक हथियारों का प्रयोग भी करता जा रहा। जिस तरह अमेरिका ने मानव इतिहास में पहली बार जापान के नागासाकी और हिरोसिमा पर परमाणु बॉम्ब गिराए थे। 


इसी तरह रूस ने मानव सभ्यता का पहला हाइपरसोनिक मिसाइल का इस्तेमाल किया। यह साउंड की गति से 10 तेज गति (10 मार्क) करती है। जिससे इसे किसी भी मिसाइल से पकड़ पाना मुश्किल है। यहां तक रूस का S-400 और यूएस का पैट्रियट मिसाइल डिफेंस सिस्टम भी शामिल है।  इसी के चलते अमेरिका रुस से सीधे पंगा नहीं लेना चाहता है।

रूस ने अपनी किंझल हाइपरसोनिक मिसाइल से यूक्रेन पर हमला किया है रूस ने हमला नाटो के सद्स्य देश रोमानियां के बॉर्डर पर किया। रूस का यह आदर्श हथियार है। जिसकी मारक क्षमता 2000 किलोमीटर दूर तक है। जिसने यूक्रेन को 10 मार्क की गति से हमला किया था। जिससे रोमानियां में स्थित नाटो सैनिकों के हाथपांव फुल गए। 

रूस ने अपनी हाइपरसोनिक मिसाइल को नाटो सैन्य संगठन के खिलाफ़ उपयोग करने के लिए बनाया था। लेकिन रूस को यूक्रेन सफलता न मिलते देख रूसी राष्ट्रपति बेहद कुपित हैं और अब वह हर आधुनिक हथियारों का प्रयोग कर रहे हैं।

हाइपरसोनिक हथियार बनाने की रेस में दुनिया के टॉप 4 देश

दुनिया में कुल चार ही देश ऐसे हैं जो हाइपरसोनिक हथियार की मामले में कहीं आगे हैं। जिनमें हमारा प्यारा हिंदुस्तान भी शामिल है। भारत के अलावा अमेरिका, रूस और चीन शामिल हैं। जो इस महाशक्तिशाली हथियार को बना लेना चाहते हैं। रूस हाइपरसोनिक हथियारों के मामलों में रूस यूएस, भारत और चीन से कहीं आगे है।

कुछ प्रमुख हाइपरसोनिक मिसाइल

• 3एम22 जिरकोन - रूस द्वारा विकसित हाइपरसोनिक एंटी-शिप क्रूज मिसाइल।  

• 14-X - हाइपरसोनिक ग्लाइड वाहन ब्राजील द्वारा वीएसबी-30 रॉकेट पर लगाया गया।  

ब्रह्मोस-2 भारत और रूस द्वारा विकसित हाइपरसोनिक मिसाइल। इसकी मारक क्षमता 1000 किलोमीटर तक होगी।

• हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शक वाहन - भारत द्वारा हाइपरसोनिक स्क्रैमजेट प्रदर्शन।  

• हाई-स्पीड स्ट्राइक वेपन - संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा बोइंग X-51 आधारित मिसाइल।  

• Kh-90 - हाइपरसोनिक हवा से सतह पर मार करने वाली क्रूज मिसाइल। यह 1990 में सोवियत संघ रूस द्वारा विकसित की गई थी। मारक क्षमता 2000 किलोमीटर तक। हवा से जमीन पर मार कर सकने वाली मिसाइल है।

DF-ZF - चीन द्वारा DF-I7 माउंटेड हाइपरसोनिक ग्लाइड वाहन।

भारत हाइपरसोनिक हथियार के मामले में काफ़ी आगे निकल चुका है। अगले एक या दो वर्षों में भारत अपनी पहला हाइपरसोनिक मिसाइल टेस्ट कर लेगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post