भारत ने 30 लाख करोड़ की वस्तुओं का निर्यात कर इतिहास रचा। अगले 5 वर्षों में 1 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचना आसान

भारत ने 400 बिलियन डॉलर (लगभग 30 लाख करोड़ रुपए) की वस्तुओं का निर्यात कर इतिहास रच दिया। यह लक्ष्य भारतीय अर्थव्यवस्था में एक मील का पत्थर साबित होगा। क्योंकि हम जल्द ही 2026 तक 1 ट्रिलियन डॉलर की वस्तुओं का निर्यात दुनिया भर में करने जा रहे हैं। जबकि चीन 3.3 ट्रिलियन डॉलर की वस्तुओं का निर्यात करता है। लेकिन जल्द ही भारत चीन को चुनौती देता हुआ दिखने लगेगा।  सबसे बड़ी बात यह है कि इसमें भारतीय सेवा क्षेत्र का निर्यात शामिल नहीं है। क्योंकि भारत अकेले 250 बिलियन डॉलर की "सेवाओं" का निर्यात करता है। इसलिए भारत का कुल निर्यात 650 बिलियन डॉलर से अधिक हो सकता है।

सोर्स, भारत सरकार, कार्मिक मंत्रालय

दुनिया को भारत का प्रतिदिन 1 बिलियन डॉलर का निर्यात

भारत दुनिया भर में 1 बिलियन डॉलर की माल और वस्तुओं का निर्यात किया है। भारत ने हर महीने 33 बिलियन डॉलर और हर घंटे 46 मिलियन डॉलर का निर्यात किया।  सबसे बड़ी बात यह है कि भारत ने 400 बिलियन डॉलर की वस्तुओं के निर्यात के लक्ष्य को वित्त वर्ष के खत्म होने के 9 दिन पहले ही प्राप्त कर लिया है।

2021-2022 में निर्यात

भारत ने पिछले वित्त वर्ष 2020-2021 में कुल 292 बिलियन डॉलर का ही निर्यात किया था। जिसमें इस वर्ष के वित्त वर्ष 2021-2022 में 37% की वृद्धि दर्ज़ की गई। जिससे भारत का गुड्स निर्यात 292 बिलियन डॉलर से बढ़कर 400 बिलियन डॉलर का हो गया है।

गुड्स निर्यात में सबसे बड़ा हिस्सा

भारतीय गुड्स निर्यात में सबसे बड़ा हिस्सा इंजीनियरिंग गुड्स का है। भारत ने अगस्त से दिसंबर 2021 तक तीन वित्त क्वार्टर्स में 81.85 बिलियन डॉलर के इंजीनियरिंग गुड्स का निर्यात किया है। जबकि अभी एक क्वॉर्टर रह ही गया। भारत पिछले साल इसी बीच 52.95 बिलियन डॉलर की इंजीनियरिंग गुड्स का निर्यात किया था।

मुख्य भारतीय गुड्स निर्यात

भारत के मुख्य गुड्स निर्यातों में पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, इंजीनियरिंग गुड्स, चमड़ा गुड्स, कॉफी, प्लास्टिक और रेडीमेड कपड़े शामिल हैं।  इसके अलावा टेक्सटाइल्स, मांस, समुद्री गुड्स और तंबाकू उत्पाद भी शामिल हैं।


इंजीनियरिंग गुड्स के मामले में भारत बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है। इसी क्षेत्र में भारत ने ज्यादा वस्तुओं का निर्यात किया। जिसमें लौह इस्पात से बने उपकरण जैसे लौह उपकरण, मशीनें, वाहन, बायसाइकिल्स, और चिकित्सकीय उपकरण शामिल हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post